टाइगर जेल के बहार , मिल गई जमानत

0
417

काले हिरण का शिकार करने के मामले में अभिनेता सलमान खान को जोधपुर की सेशंस कोर्ट ने जमानत दे दी है। इससे पहले गुरुवार, 5 अप्रैल को जोधपुर की ही निचली अदालत ने सलमान को पांच साल की कैद की सजा और दस हजार रुपये के जुर्माने की सुजा सुनाई थी, जिसके बाद उन्हें दो रात जेल में बितानी पड़ी हैं। उनके वकीलों ने सेशंस कोर्ट में गुरुवार को ही जमानत के लिए याचिका दायर कर दी थी। जिसपर शुक्रवार को दोनों पक्षों ने अपनी दलीलें दी।
दलीलें सुनने के बाद जज रवींद्र कुमार खत्री ने शनिवार सुबह 10:30 बजे अपना फैसला देने की बात कही। शनिवार सुबह भी दोनों तरफ से दलीलें दी गईं और जज ने लंच के बाद फैसला सुनाने का आदेश दिया। दोपहर तीन बजे जज ने फैसला सुनाते हुए सलमान खान को 50 हजार रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी है।

गौरतलब है कि गुरुवार को जेल में सलमान को कैदी संख्या 106 नंबर दिया गया। जोधपुर की सेंट्रल जेल में उन्हें जेलर के कमरे के पास बनी एक सेल में रखा गया है। इसे व्यक्तिगत सेल माना जाता है।

वकीलों ने क्या कहा

सलमान खान के वकीलों ने कोर्ट में कहा है कि जब इस मामले का ट्रायल चल रहा था तब भी सलमान जमानत पर थे, बाकी मामलों में भी उन्हें जमानत मिलती रही है तो उन्हें जमानत मिलनी चाहिए। उन्होंने यह दलील भी दी कि सलमान खान कोर्ट की हर शर्त को मानते हैं और इसलिए उन्हें जमानत मिलनी चाहिए। हालांकि सरकारी वकील ने सलमान की जमानत का विरोध किया। सरकारी वकील ने कहा कि हिरण को गोली लगी थी और इसका मेडिकल प्रमाण और गवाह दोनों मौजूद हैं।

जमानत पर बिशनोई समुदाय के वकील महीपाल बिशनोई ने कहा कि ‘सलमान को 25 हजार रुपए के दो बांड भरने होंगे। अब वह कोर्ट की अनुमति के बिना देश से बाहर नहीं जा सकेंगे। सलमान को 7 मई को फिर से कोर्ट में पेश होना होगा।

गुरुवार को ही मिल जाती जमानत लेकिन…
गुरुवार को सलमान ने सेशंस कोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल की थी। उनकी जमानत पर बहस भी पूरी हो गई थी और जमानत मिल सकती थी लेकिन वकील की एक दलील ने इसे रुकवा दिया था।दरअसल, सरकारी वकील ने कोर्ट में कहा था कि सलमान को सजा तीन साल से ज्यादा की हुई है, इसलिए इस मामले में सीजेएम कोर्ट के रिकॉर्ड देखे जाने चाहिए। जज ने इस दलील को स्वीकार कर लिया और सुनवाई शनिवार तक के लिए टाल दी थी।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें। |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here