निधास टी20 ट्रॉफी के फाइनल में भारत का सामना उलटफेर करने की आदि हो चुकी बांग्लादेश से

0
373

निधास टी20 ट्रॉफी के फाइनल में शाम सात बजे से मजबूत भारत का सामना उलटफेर करने की आदि हो चुकी बांग्लादेश से आर. प्रेमदासा स्टेडियम में होगा. भारत को इस त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के पहले मैच में श्रीलंका से हार मिली थी, लेकिन इसके बाद उसने शानदार वापसी करते हुए फाइनल में प्रवेश किया है. वहीं, पिछले मैच में मेजबान श्रीलंका को पटखनी देने के बाद बांग्लादेश के तेवर बहुत ही आक्रामक हो चले हैं, और रोहित एंड कंपनी को इससे सतर्क रहना होगा.

वहीं बांग्लादेश ने इस सीरीज में दो जीत हासिल की हैं और दोनों बार उसने श्रीलंका को मात दी है. दो बार भारत से परास्त हो चुकी बांग्लादेश की नजरें एक और उलटफेर कर खिताब अपने नाम करने पर होंगी, लेकिन उसकी राह किसी भी कीमत पर आसान नहीं है. भारतीय टीम भी बांग्लादेश के अप्रत्याशित व्यवहार से वाकिफ है और इसी कारण वह उसे हल्के में नहीं ले सकती

भारत ने इस सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया है. फाइनल में आने से पहले उसकी सबसे बड़ी चिंता कप्तान रोहित शर्मा की फॉर्म भी दूर हो गई है. रोहित ने बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए पिछले मैच में अर्धशतकीय पारी खेल वापसी करते हुए बांग्लादेश के माथे पर शिकन ला दी है वहीं, उनके जोड़ीदार शिखर धवन इस सीरीज में खेले गए अभी तक के तीन मैचों में दो अर्धशतक लगा चुके हैं। अनुभवी बल्लेबाज सुरेश रैना ने भी पिछले मैच में तूफानी 47 रनों की पारी खेल अपनी चमक बिखेरी थी. इन तीनों के अलावा मनीष पांडे और दिनेश कार्तिक ने भी अहम समय पर संयम से खेलते हुए भारत को जीत दिलाई हैं

बल्लेबाजी भारत की परेशानी नहीं है, लेकिन उसके लिए कुछ चिंता का विषय है तो वो है गेंदबाजी. अपने अनुभवी गेंदबाजों को आराम देकर भारत ने इस सीरीज में अपने युवा गेंदबाजों को मौका दिया है। पहले मैच में बुरी तरह से पिटने के बाद इन युवा गेंदबाजों ने अच्छी वापसी की है लेकिन अनुभव की कमी और बांग्लादेशी बल्लेबाजों का आक्रामक रवैय उनका मनोबल तोड़ सकता है. टीम में युजवेंद्र चहल और वॉशिंगटन सुंदर के रूप में दो स्पिनर हैं. वहीं शार्दुल ठाकुर ने भी अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया है. जयदेव उनादकट दो मैचों में महंगे साबित हुए थे और इसलिए तीसरे मैच में मोहम्मद सिराज को मौका मिला था, लेकिन यह युवा गेंदबाज कुछ ज्यादा प्रभाव नहीं छोड़ पाया था.
वहीं पिछले मैच में शाकिब अल हसन की वापसी से बांग्लादेश टीम को मजबूती मिली है. कप्तान के तौर पर लौटते ही उन्होंने अपनी टीम को अहम जीत दिलाई. बांग्लादेश की बल्लेबाजी पूरी सीरीज में शानदार रही है. सलामी जोड़ी तमीम इकबाल और लिटन दास ने टीम को अच्छी शुरुआत दी और उसके बाद मुश्फीकुर रहीम, सौम्य सरकार, महमुदुल्लाह ने टीम के मध्यक्रम को मजबूत किया है. महमुदुल्लाह की ही 18 गेंदों में खेली गई 43 रनों की पारी के दम पर बांग्लादेश ने श्रीलंका को मात देकर फाइनल में प्रवेश किया है। इस मैच में इकबाल ने भी अर्धशतक जड़ा था। टीम प्रबंधन एक बार फिर इन दोनों से इसी तरह की उम्मीद करेगा

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें। |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here